MDH मसालों के मालिक का सफरनामा : महाशय धर्मपाल गुलाटी जी

दोस्तों MDH मसाले का नाम हम सभी ने सुना है। आज 3 दिसंबर 2020 को MDH मसालों की शुरुआत करने वाले महाशय धर्मपाल गुलाटी का 98 साल की उम्र मे दिल्ली में निधन हो गया।

जीवन परिचय : महाशय धर्मपाल गुलाटी

MDH मसालों के नाम से मशहूर कंपनी के सीईओ (CEO)  महाशय धर्मपाल गुलाटी का जन्म 27 मार्च 1923 को सियालकोट (अब पाकिस्तान देश में ) में हुआ था। महज 24 साल की उम्र में 1947 में हुए बटवारे के बाद वह पाकिस्तान को छोड़कर भारत आ गए थे।

महाशय धर्मपाल गुलाटी ने पाचवी कक्षा तक ही पढाई की थी।

दिल्ली में अपने सघर्षपूर्ण जीवन के शुरूआत में महाशय धर्मपाल गुलाटी जी ने 650 रुपए में ख़रीदे गए घोडा और तांगा गाड़ी से की थी। जिसे वह नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से लेकर करोल बाग तक चलाया करते थे।

तांगा गाड़ी चलाना छोड़ने के बाद उन्होंने ग़ाज़ियाबाद से गुड को दिल्ली लाकर बेचना शुरू कर दिया था , इस सब के बाद महाशय धर्मपाल गुलाटी ने दिल्ली के खारी बावली में मसालों की दुकान खोली थी

मसालों के इस क़ारोबार को उन्होंने बहुत तेजी से बढ़ाना शुरू कर दिया जिसके बाद उन्होंने दिल्ली के करोलबाग , कीर्तिनगर में मसालों की दुकान और फैक्ट्री की शुरुआत की थी और अपने इस क़ारोबार को महाशय दी हट्टी का नाम दिया जिसे आज हम MDH के नाम से जानते है

click here : Delhi Police Vacancy (दिल्ली पुलिस कैसे जॉइन करे।)

महाशय धर्मपाल गुलाटी के जीवन से हम क्या सीख सकते है। 

किसी भी लक्ष्य को हम पहले ही प्रयास में हासिल नहीं कर सकते। लक्ष्य को हासिल करते समय कई बार हमें असफ़लता का स्वाद भी चखना पढता है , ऐसे समय में कई लोग अपना रास्ता बदल देते है और प्रयास करना ही बंद कर देते है। इन दोनों स्थिति में आप सफ़लता से कोसों दूर चले जाते है। 

जीवन में उच्च शिखर पर पहुंचने के लिए आपको हमेशा अपने ऊपर ध्यान देने की जरुरत है , अपनी कमियों के समझने के लिए आत्मनिरीक्षण जरूर करे , और अपने अंदर होने वाली कमी को दूर करे।

सफल होने के लिए छोटे -छोटे  टारगेट तय करे , एक बार में खुद को बड़ा लक्ष्य देने की भूल नहीं करनी चाहिए।

महाशय धर्मपाल गुलाटी जी की उपलब्धियाँ 

छोटे से मसालों के कारोबार को बुलंदियों पर पहुंचाने के साथ साथ MDH मसालों के मालिक महाशय धर्मपाल गुलाटी जी खुद को भी बहुत ऊंची बुलंदियों पर ले कर गए है। 

भारतीय उद्योग जगत के प्रसिद्ध व्यक्तित्व होने के साथ साथ वह समाज सेवा के लिए किए गए उनके कार्य भी सराहनीय है जिसके कारण भारत सरकार द्वारा 2019 में उन्हें पद्म भूषण से नवाज़ा गया था। 

1959 में पहली मसाला बनाने की फैक्ट्री खोलने वाले MDH मसालों के मालिक महाशय धर्मपाल गुलाटी जी ने कुल मिलाकर पुरे देश में 18 मासाले बनाने वाली फैक्ट्री की शुरुआत की है। 

MDH मसालों के मालिक महाशय धर्मपाल गुलाटी जी की कुल संपत्ति की बात करे तो यह 1600 करोड़ रूपए से भी ज्यादा है। 

MDH मसालों के मालिक महाशय धर्मपाल गुलाटी जी FMCG   सेक्टर में काम करने वाली कंपनी में सबसे ज्यादा Income प्राप्त करने वाले सीईओ (CEO) थे , उनकी सैलरी 21 करोड़ रूपए थी source :- https://en.wikipedia.org/wiki/Dharampal_Gulati 

 

Leave a Comment