Secrets of sinauli हिंदी डॉक्यूमेंट्री फिल्म

Sinauli Archaeological sites , secrets of sinauli ,
दोस्तों भारत वर्ष का इतिहास हमेशा से ही आदि काल की महानतम खोजों का प्रमुख बिंदु रहा है। भारत के इतिहास से जुडी बहुत सी महान कथाएँ जैसे रामायण , महाभारत , श्री कृष्णा से जुड़े हुए स्थान / मंदिर इस बात को साबित भी करते है।

परंतु कुछ पश्चिमी देशों (western country) ने यह मानने से हमेशा इनकार किया है। यह देश Western country भारत के स्वर्णिंम इतिहास को काल्पनिक एवं भारत को सपेरों का देश कहाँ करते थे। लेकिन जैसे -२ भारत के इतिहास को पढ़ा गया और उसको आज की भौगोलिक स्तर पर  एवं इतिहास से जुड़े हुए अवशेषो को देखने पर यह साबित होता है की भारत का इतिहास हमेशा से ही महानतम रहा है।

इसी कड़ी में एक और महान खोज भारत में पिछले साल हुई है। Secrets of sinauli , sinauli archaeological sites .

Secrets of sinauli

आज हम आपको सीक्रेट ऑफ सिनौली secrets of sinauli , sinauli Archaeological sites के बारे में बताने जा रहे हैं। उत्तरप्रदेश में मौदूद यह सिनौली गांव (Sinauli Village) पिछले कुछ दिनों से बहुत चर्चा में आया है। क्योंकि Discovery plus india ने secrets of sinauli के नाम से एक Documentary film बनाई है जिसका निर्देशन Neeraj Pandey ने किया है और महान कलाकार मनोज बाजपेई ने इस डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म में अपनी आवाज दी है

secrets of sinauli documentary film को Discovery of century , 21 वी सदी की सबसे बड़ी ख़ोज का नाम दिया है .इसमें मिलने वाले अवशेषों को देखने पर पता चलता है की कैसे विदेशी इतिहासकारों ने Ancient history को गलत तरीके से पुरे विश्व के सामने रखने की कौशिश की है .

यहाँ 4000 साल पुराने Copper , gold , के बने हथियार मिले है जिससे पता चलता है की भारत में कॉपर की ख़ोज बहुत पहले हो गई थी

sinauli Archaeological sites से मिले रथ (Chariot) के अवशेषों से पता चलता है की भारत में रथ का इस्तेमाल Ancient काल से होता हुआ आ रहा है जिसे विदेशी इतिहासकारों ने अभी तक कभी माना था .लेकिन अब भारत के पास इससे जुड़े साक्ष्य मौदूद है जिसे बाद पुरे विश्व के इतिहासकारों को दुबारा से इतिहास लिखने की जरुरत पढ़ सकती है

sinauli Archaeological sites

sinauli archaeological site भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के बागपत जनपद की बड़ोत तहसील में स्थित है। यह गांव दिल्ली से लगभग 70 किलोमीटर की दूरी पर उत्तर दिशा में है। यहां पर खुदाई (excavation) सन 2005 मैं पहली बार शुरू हुई थी क्योंकि यहां पर 2005 में कुछ किसानों को अपने खेत जोतते समय कुछ आभूषण मिले फिर थोड़ा और खोदने पर किसानों को हड्डियां मिली फिर किसानों की शिकायत से पुरातन विभाग हरकत में आया वहां पर विभाग में खोदना शुरू किया और वहां खोज शुरू की .

हमारा देश भारत हमेशा से महान देश रहा है परन्तु विदेशी इतिहासकारों ने के अनुसार भारत में घोड़े तो थे ही नहीं यह घोड़े अरब वासियो के साथ भारत में आए थे .साथ ही  रथ का आविष्कार भी भारत में नहीं हुआ था उनके अनुसार रथ का अविष्कार पश्चिमी देशों में हुआ था लेकिन हाल में ही हुई खोज से पूरी दुनिया को पता चला है की भारत में इस सबका इस्तेमाल पहले से होता हुआ आ रहा है

click here : Delhi Police Vacancy (दिल्ली पुलिस कैसे जॉइन करे।)

सन 2018 में फिर से वापस इसकी खुदाई करने पर जो यहाँ पर मिला वह सब ऐतिहासिक है। यह sinauli Archaeological sites सिनौली गांव से अभी तक जो भी अवशेष मिले है वो सब 1800-2200 ईसा पूर्व की मानी जा रही हैं। जब यहां पर और खुदाई करके छानबीन की गई तो पता चला यह पार्ट्स  बहुत पुराने ऐतिहासिक और सुंदर हैं।

यहां पर खुदाई में रथ, हेलमेट, शील्ड, तलवारें मिली है जिनको महाभारत से जोड़कर देखा जा रहा है । इसीलिए sinauli Archaeological sites , secrets of sinauli के नाम से बहुत चर्चा में रहा है

इस पुरे प्रकरण के ऊपर बनने वाली documentary secrets of sinauli में मनोज बाजपेई ने आवाज दी है जिसे आप की डॉक्यूमेंट्री पर बनी सीक्रेट ऑफ सनौली में देख सकते हैं।

1 thought on “Secrets of sinauli हिंदी डॉक्यूमेंट्री फिल्म”

Leave a Comment