SIM SWAP फ्रॉड क्या होता है।

SIM SWAP फ्रॉड क्या होता है। इससे कैसे बच सकते है आज हम अपने इस ब्लॉग में SIM SWAPPING के बारे में बात करेगे।

दोस्तों इंटरनेट के द्वारा नए नए तरीके से होने वाले फ्रॉड के बारे में आप सभी डेली न्यूज़ पेपर या टीवी पर देखते होंगे की कैसे साइबर क्राइम से जुड़े लोग आम आदमी को अपने जाल में फॅसा कर उनके बैंक एकाउंट को खाली कर देते है।

भारत में साइबर क्राइम के केस बहुत तेजी से बढ़ रहे है जिसका प्रमुख कारण है इंटरनेट दोस्तों इंटरनेट की बात करे तो भारत इंटरनेट यूज़र के मामले में विश्व में दुसरे नंबर पर है।

SIM SWAP फ्रॉड क्या होता है।

SIM SWAP के जरिये होने वाली ऑनलाइन फ्रॉड की घटनाएँ बहुत तेजी से बड़ी है। अगर आपके पास भी 2G , 3G , सिम को 4G इ-सिम में अपग्रेड करने के लिए कॉल आती है।

तो आपको भी सावधान हो जाना चाहिए कॉलर SIM SWAPPING करके या सिम बदल कर आपका बैंक अकाउंट खाली कर सकता है। इस संबंध में सरकार दुआरा बार बार अलग अलग माद्यम से लोगो को आगाह किया गया है आइये जानते है।

SIM SWAP

सिम SWAPPING साइबर फ्रॉड का नया तरीका है।  साधारण शब्दों में कहे तो SIM SWAP का मतलब होता है की सिम को चेंज करना लेकिन जब यह बिना आपकी जानकारी के होता है तो समझ लीजिये यह एक फ्रॉड activity है।

इसके लिए जालसाज फिशिंग (Fishing), विशिंग (Vishing) आदि के जरिये पीड़ित के बैंक अकाउंट की डिटेल्स और मोबाइल नंबर हासिल कर लेता है। फिर वह मोबाइल ऑपरेटर के आउटलेट पर fake ID प्रूफ के साथ जाता है।

Original  सिम कार्ड को ब्लॉक करा कर नया सिम कार्ड हासिल कर लेता है।  इसके बाद नए सिम और बैंक डिटेल्स का इस्तेमाल कर बैंक से गलत तरीके से Transaction कर लेता है।

SIM SWAP फ्रॉड से कैसे बचे।

  • अगर आपके पास 2G  , 3G  सिम को अपग्रेड करने के लिए कोई कॉल आती है , तो उस पर बिलकुल भी विश्वास न करे यह आपके साथ धोखा हो सकता है।
  • मोबाइल नंबर ब्लॉक / टेलिकॉम ऑपरेटर दुआरा सिम को डीएक्टिवेट (DEACTIVATE) होने के नाम पर आये किसी भी SMS में माँगी गयी कोई भी जानकारी किसी के साथ शेयर ना करे।
  • कॉल के द्वारा या SMS के द्वारा दिए गए निर्देशों पर किसी APP और LINKS को बिलकुल open न करे।
  • अपने मोबाइल नंबर पर आये हुए One Time Password (OTP) को किसी के साथ शेयर ना करे।

साइबर क्राइम से बचने के कुछ तरीके।

दोस्तों ध्यान दे हम सभी लोग आज कल ऑनलाइन बैंकिंग ट्रांज़ैक्शन करने के लिए मोबाइल ऍप का भी इस्तेमाल करते है। साइबर क्रिमिनल्स ने इन ऍप के नाम से गूगल पर गलत कस्टमर केयर नंबर डाले हुए है।

यूजर को जब भी मोबाइल ऍप के द्वारा की गई ऑनलाइन ट्रांज़ैक्शन में कोई भी परेशानी आती है तो हम उसका कस्टमर केयर नंबर गूगल पर सर्च करते है।

ये फेक नंबर आपसे आपके एकाउंट वेरिफिकेशन के नाम पर आपकी पर्सनल और बैंक डिटेल्स लेकर आपके अकाउंट से पैसो का गबन कर जाते है। ध्यान रखे गूगल पर से ली गयी जानकारी को पहले वेरीफाई करे तभी किसी नंबर पर कॉल करे।

जालसाज आम आदमी को अपने जाल में फ़साने के लिए हमेशा नए नए तरीके अपनाते है कभी वे बैंक कर्मचारी बन कर फ़ोन करेगे अथवा टेलिकॉम कम्पनी के कॉलर बनकर इन्ही चक्कर में आकर कुछ लोग अपनी पर्सनल और बैंकिंग डिटेल्स उनके साथ शेयर कर देते है।

जिसके बाद उनके बैंक अकाउंट से पैसे साफ़ होने में समय नहीं लगता है

SIM , OTP , पासवर्ड , डेबिट और क्रेडिट कार्ड से जुडी जानकारियो किसी भी परिस्थिति में साझा करने से बचना चाहिए .

साइबर क्राइम कंप्लेंट के लिए निचे दिए लिंक पर क्लिक करे :: CYBER CRIME 

1 thought on “SIM SWAP फ्रॉड क्या होता है।”

Leave a Comment