Srinivasa Ramanujan : National Mathematics Day हिंदी में

विश्व के महानतम गणितज्ञ श्रीनिवासन रामानुजन (Srinivasa Ramanujan) का जन्म भारत के तमिलनाडु के इरोड (Erode) नाम के गांव में 22 दिसंबर 1887 में हुआ था। इनके द्वारा Mathematics के क्षेत्र में किए गए कामों को देखते हुए भारत सरकार ने सन  2012 में  श्रीनिवासन रामानुजन (Srinivasa Ramanujan) के जन्म दिवस 22 दिसंबर को प्रति वर्ष National Mathematics Day के रूप में मनाने का निर्णय लिया था।

Srinivasa Ramanujan का जीवन परिचय 

एक साधारण से परिवार में जन्मे Srinivasa Ramanujan के पिता का नाम श्रीनिवास अय्यंगर और माता का नाम कोमलताम्मल (Komaltamal) था। इनका शुरुआती बचपन कुंभकोणम (Kumbakonam) नाम की जगह में बीता जो आज भी अपने प्राचीन मंदिरों के लिए जाना जाता है।

श्रीनिवासन रामानुजन (Srinivasa Ramanujan) का आध्यात्म (भगवान में ) के प्रति बहुत गहरा विश्वास था वह मानते थे की “गणित के उस सूत्र (Formula) का कोई मतलब नहीं है। जिससे मुझे आध्यात्मिक (Spiritual) विचार न मिलते हों  श्रीनिवासन रामानुजन (Srinivasa Ramanujan) और उनकी माता धर्म और आध्यात्म में बहुत विश्वास रखते थे।

बचपन में श्रीनिवासन रामानुजन (Srinivasa Ramanujan) का बौद्धिक विकास (Intellectual Development) दूसरे सामान्य बालकों जैसा नहीं था।  वह तीन साल की आयु तक बोल भी नहीं पाते थे। इन सब कठिनाइयों को पीछे छोड़ते हुए श्रीनिवासन रामानुजन (Srinivasa Ramanujan) ने प्राथमिक परीक्षा (Primary Level) में पूरे जिले में सबसे अधिक अंक अर्जित किए।

Srinivasa Ramanujan ने आगे की शिक्षा के लिए Town High School में दाख़िला लिया। Srinivasa Ramanujan को स्कूल में प्रश्न पूछना बहुत पसंद था। 11 साल की उम्र में वह स्कूल में होते हुए College level का Maths Solve कर दिया करते थे। 13 साल की उम्र में Advance Trigomatry के सवाल solve करना शुरू कर दिया था। [National Mathematics Day]

Srinivasa Ramanujan ने 10th क्लॉस की परीक्षा में Maths और English मे अच्छे अंक लाने के कारण एक छात्रवृत्ति मिली थी। Srinivasa Ramanujan की गणित विषय में रूचि बहुत बढ़ गई थी जिसकी कारण उन्होंने दूसरे विषयों पर ध्यान देना ही बंद कर दिया था। जिसके परिणामस्वरूप वह ग्यारहवीं कक्षा में गणित के अलावा बाक़ी सभी विषयों में फेल हो गए और उनको मिलने वाली छात्रवृत्ति भी बंद हो गई।

Srinivasa Ramanujan ने 1907 में फिर से बारहवीं की परीक्षा दी और फिर से अनुत्तीर्ण हो गए। जिसके उपरान्त उनकी आगे की पढ़ाई पर वही विराम लग गया था।

Srinivasa Ramanujan महानतम  गणितज्ञ

महान गणितज्ञ का जीवन हमेशा से विपरीत परिस्थितियों बीता। स्कूल छोड़ने के बाद वह घर पर आस पास के बच्चे को ट्यूशन पढ़ाते थे जिससे उन्हें कुल पांच रूपये मासिक मिलते थे। लेकिन इस समय भी वह गणित में नई -नई शोध करते रहे।

विवाह होने के उपरान्त रामानुजन Srinivasa Ramanujan वहां के डिप्टी कलेक्टर श्री अय्यर से मिले। वे खुद गणित के विद्वान थे। श्री वी अय्यर ने रामानुजन की 25 रूपए मासिक सैलरी पर एक जॉब दिलवा दी। यहाँ पर जॉब्स से बचे हुए समय में उन्होंने एक नई ख़ोज की “Bernoulli Numbers ” . इसके एक साल बाद उन्होंने मद्रास पोर्ट ट्रस्ट में क्लर्क की नौकरी शुरुआत की।

उस समय के प्रसिद्ध गणितज्ञों में से एक इंग्लैंड के प्रोफेसर हार्डी (Professor Hardy) का शोधकार्य (Research) को पढ़ने के बाद रामानुजन ने उनके सभी सवालो के जवाब निकाल दिए। इस बारे में ramanujan ने प्रोफेसर हार्डी को पत्र लिखा यही से Ramanujan और Professor Hardy के बीच पत्र वार्तालाप की शुरुआत हुई।

रामानुजन के गणित के क्षेत्र में किये कार्य को देखकर उन्हें इंग्लैंड बुला लिया इसके बाद Professor Hardy और Ramanujan ने maths के लिए मिलकर काम किया

इंग्लैंड में भी उनकी सेहत ने उनका साथ नहीं दिया जिसकी वजह से उन्हें कुछ समय बाद भारत वापस आना पड़ा लेकिन इतने समय में वह बहुत बड़ा काम कर चुके थे। यहाँ भी उनका स्वास्थ्य खराब (Health Problem) रहने लगा। डॉक्टरों ने इसे क्षय रोग (Tuberculosis) बताया। उस समय क्षय रोग (Tuberculosis) की कोई दवा (Vaccine) नहीं होती थी जिसके कारण विश्व को एक महान Mathematicsa को खोना पड़ा 26 अप्रैल 1920 को 32 साल की छोटी सी उम्र में उनका निधन हो गया था।

Click Here: Website kaise banaye ! फ्री वेबसाइट कैसे बनाये।

Srinivasa Ramanujan द्वारा Mathematics के क्षेत्र में किए गए कार्य

Mathematics के क्षेत्र में करीबन 3,884 प्रमेय (Theorem) की खोज करने वाले Srinivasa Ramanujan महानतम प्रतिभा के घनी थे।

  • Mathematical Analysis
  • Number Theory
  • Infinite Series
  • Continued Fraction
  • Hardy – Ramanujan Number 1729
  • इसके अलवा कुछ ऐसे Mathematics Problems के भी Solutions दिए जिनका उस समय तक कोई Solution नहीं मिला था।

Srinivasa Ramanujan को मिलने वाली उपाधि

  • तमिलनाडु राज्य में Srinivasa Ramanujan के जन्म दिवस को “State IT Day ” के रूप में मनाते है।
  • SASTRA Ramanujan Prize फॉर Young Mathematician .
  • National Mathematics Day on 22 December .
  • Ramanujam IT City in Chennai .
  • Youngest Fellow For Royal Society in England .
  • Fellow Of Trinity College Cambridge

Hollywood में Ramanujan के ऊपर एक movies भी है जिसका नाम है :-The Man Who Knew Infinity

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.