What is computer in hindi

What is computer in hindi आज के समय में हमारे दैनिक जीवन के कामो में कंप्यूटर का बहुत उपयोग होता है। वर्तमान समय में कंप्यूटर के महत्व  नकारा नहीं जा सकता है। सूचना क्रांति (Information Technology) ने पुरे विश्व को एक दूसरे से जोड़ दिया है।

भारत की वर्तमान व आगे आने वाली पीढ़ी को इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी (Information Technology) के विभिन्न पक्षों से परिचित कराना और कंप्यूटर का अधिक से अधिक प्रयोग को लेकर प्रेरित करने की जरुरत है।

[Computer Definition in hindi] कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक्स मशीन है। जो सूचनाओं को स्टोर करके , उसके Manipulation (जोड़-तोड़) में हमारी मदद करता है। एवं हमारे द्वारा दिए गए आदेश के अनुसार विभिन्न प्रकार के काम करता है।

कंप्यूटर का दैनिक जीवन में उपयोग [Uses of Computer]

शिक्षा के क्षेत्र में प्रभावकारी और मनोरंजक तरीके से ज्ञान प्राप्त करना।

हॉस्पिटल में बीमारियों का पता लगाने में और मरीजों का इलाज करने में।

ऑफिस में कंप्यूटर का उपयोग  बहुत सारे  काम करने के लिए किया जाता। डाटा को स्टोर करने में प्रस्तुतीकरण (प्रेजेंटेशन) करने में।

ईमेल , वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग ,चैटिंग जैसे बहुत दैनिक जीवन के काम तथा व्यावसायिक काम करने में भी कंप्यूटर का उपयोग होता है।

बैंकिंग में पैसो का लेनदेन कंप्यूटर द्वारा बहुत ही सुविधाजनक तरीके से होता है।

रेलवे , हवाई जहाजों , बसों में टिकट बुकिंग एवं यात्रा के बारे में जानकारी के लिए कंप्यूटर का उपयोग करते है।

विज्ञानं के क्षेत्र में नयी खोज , तकनीकी के बारे में कंप्यूटर का बहुत उपयोग होता है।

Types Of Computer [कंप्यूटर के प्रकार]

Technology के आधार पर Computers को मुख्यतः तीन प्रकार के होते है .

  1. ANALOG COMPUTER
  2. DIGITAL COMPUTER
  3. HYBRID COMPUTER

Size के आधार पर भी Computer को तीन भागों में बांटा गया है।  

  1. MAINFRAME COMPUTER
  2. MINI COMPUTER
  3. MICRO COMPUTER

MICRO COMPUTER 

यह कंप्यूटर आकार में छोटे होते है। इन कंप्यूटर का विकास 1970 के दशक में हुआ था , इन कंप्यूटर में माइक्रो प्रोसेसर (Microprocessor) का प्रयोग किया जाता था इन्हीं कंप्यूटर को PC (Personal Computer) भी कहा जाता है।

[Personal Computer को निम्न भागों में बाँटा गया है ]

  • Desktop Computer        (डेस्कटॉप कंप्यूटर)
  • Laptop Computer          (लैपटॉप कंप्यूटर)
  • Palmtop Computer       (पॉमटॉप कंप्यूटर )
  • Notebook Computer     (नोटबुक कंप्यूटर)
  • Tablet Computer           (टैबलेट कंप्यूटर )

Super Computer

सुपर कंप्यूटर विशेष प्रकार के कंप्यूटर होते है। इनका निर्माण विशेष कार्य के लिए किया जाता है। यह दुनिया के सबसे तेज और बड़े कंप्यूटर होते है

भारत का पहला सुपर कंप्यूटर PARAM है।

सुपर कंप्यूटर के कार्य 

  • अंतरिक्ष यात्रा के लिए , वैज्ञानिक इस्तेमाल में लाये जाते है।
  • मौसम विभाग की जानकारी ज्ञात करने के लिए।

Full Form Of Computer 

C : Commonly                   साधरणतया

O : Operated                      चलने वाली

M : Machine                       मशीन

P : Particularly                  ज्यादातर

U : Used for                       जिसका इस्तेमाल

T : Trade                            बिज़नेस के काम

E : Education                   पढ़ाई लिखाई के काम में

R : Research                     खोज करने में किया जाता है।

 

Internet क्या है हिंदी में जाने 

Computer History  in Hindi 

1st Generation (1946 -1959)

  • पहली जनरेशन में बने कंप्यूटर साइज में बहुत बड़े होते थे।  उनके अंदर वैक्यूम ट्यूब (acuum tube ) का इस्तेमाल होता था।
  •  कंप्यूटर को चलाने में मशीन लेवल लैंग्वेज (machine level language) और असेंबली लैंग्वेज (assembly language) का यूज़ होता था।
  • पहली जनरेशन के कंप्यूटर थे : ENIAC , UNIVAC , IBM – 701 .

2nd Generation (1959 – 1985)

  • इस जनरेशन में कंप्यूटर में वैक्यूम ट्यूब (vacuum tube) जगह ट्रांसिस्टर्स (Transistors) का इस्तेमाल होने लगा। जिससे कंप्यूटर का साइज काम हुआ।
  • कंप्यूटर को चलाने में असेंबली (Assembly) और हाई लेवल लैंग्वेज (High Level Language)  का यूज़ होने लगा।
  • दूसरी जनरेशन के कंप्यूटर थे : IBM 1620 , IBM 7094 .

3rd Generation (1965-1975)

  • इस जनरेशन में कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम में (Integrated circuit) का इस्तेमाल होने लगा जिससे कंप्यूटर के काम करने की स्पीड बढ़ गयी .
  • कंप्यूटर दुआरा रिमोट प्रोसेसिंग (Remote Processing ) , टाइम शेयरिंग (Time Sharing ) , रियल टाइम मल्टी प्रोग्रामिंग (Real Time Multi programming) जैसे नए तरह की टेक्नोलॉजी इसमें शामिल हो गयी थी .
  • कंप्यूटर में हाई लेवल लैंग्वेज (High level language), फोर्टन(FOR TAN) , कोबोल (COBOL) , पास्कल(PASCAL) जैसी लैंग्वेज का इस्तेमाल होने लगा .
  • इस जनरेशन के कंप्यूटर हे : Honeywell – 6000 , IBM-360 Series.

4th Generation (1976-1985)

  •  4th जनरेशन में Very Large scale Integrated circuit microprocessor (माइक्रोप्रोसेसर) का इस्तेमाल होने लगा
  • Dec 10 , Super computer

5th  Generation (1985- )

  • आज कल के कंप्यूटर जो हम यूज़ करते हें 5th जनरेशन कंप्यूटर होते हे२.
  • इनमे यूज़ होने वाले प्रोसेसर Ultra large scale integrated circuit होता हे
  • आज कल यूज़ होने वाली लैंग्वेज हें c++ , java , .net .
  • इस जनरेशन के कंप्यूटर हें : लैपटॉप , डेस्कटॉप .

पार्ट्स ऑफ़ कंप्यूटर (Parts of Computer)

  • Input Device
  • Processing device
  • Storage Device
  • Output device
  • User

Computer सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते है 

कंप्यूटर की कार्यप्रणाली

कंप्यूटर कैसे काम करता हें

                               डाटा इनपुट ››› प्रोसेसिंग ››› आउटपुट

इनपुट यूनिट (Input Unit) :

इनपुट यूनिट के इस भाग से कंप्यूटर में डाटा एंट्री और आदेश दिया जा सकता हे ये डिवाइस कंप्यूटर और यूजर के बीच संपर्क स्थापित करती हें। या ऐसे Device जो मानव निर्देशों को कंप्यूटर के समझने योग्य संकेतो में परिवर्तित करते है उन्हें Input Device कहते है।

इनपुट डिवाइस :

  • Keyboard                    (कीबोर्ड)
  •  Mouse                        (माउस)
  • Joystick                       (जोस्टिक)
  • Light Pen                   (लाइट पैन)
  • Scanner                      (स्कैनर)
  • Microphone               (माइक्रोफोन )
  • MICR                          (चुम्बकीय इंक कार्ड रीडर )
  • OCR                            (ऑप्टिकल करैक्टर रीडर)
  • Bar code reader        (बार कोड रीडर )

keyboard :

कीबोर्ड के दुआरा हम कंप्यूटर के अन्दर डाटा को इनपुट करते हें कीबोर्ड के अन्दर अलग – अलग टाइप की keys होती हें

  • Alphabets keys : A से Z तक
  • Number keys : 0 से 9 तक
  • Toggle keys : ये keys डाटा एंट्री (Entry) करते वक्त इनपुट मोड को बदलने के काम आती हें जैसे : Caps Lock, Num Lock, Scroll Lock.
  • Insert Modifier Keys : ये keys (special combination keys) किसी दूसरी keys के साथ काम करने पर normal keys से अलग काम करती हें जैसे : Shift , Alt , Ctrl , Fn .
  • Function keys : F1 से F12 तक function keys होती हें हर किसी keys का अलंग काम होता हें .

माउस (Mouse) :

यह एक पोइंटिंग डिवाइस (Pointing device ) होता हें . जो programmes को पॉइंट करने के लिए यूज़ किया जाता हें स्क्रीन पर एक आइकॉन (icon ) होता हें जिसे mouse pointer या कर्सर (cursor ) कहते हें

  • optical mouse
  • Track ball mouse
  • Wireless mouse

mouse में mainly तीन तरह के बटन होते हें

  1. Left Button : इसका यूज़ programme को open करने के लिए डबल क्लिक के साथ किया जाता हें
  2. Right Button : इसका यूज़ programme की प्रॉपर्टीज को देखने के लिए सिंगल क्लिक के साथ किया जाता हें
  3. Scroll Button : mouse के बीच में जो ट्रैक बाल होती हें उससे हम page up और page down के लिए यूज़ करते हें .

*Drag and Drop*

प्रोसेसिंग यूनिट

सी . पी . यू  (Central Processing Unit) :   

CPU को कंप्यूटर का दिमाग (BRAIN) कहा जाता हें यह सभी प्रकार के डेटा प्रोसेसिंग का कार्य करता हें इसमें शामिल कंट्रोल यूनिट कंप्यूटर के सभी भागो के कार्य को नियंत्रित करता हें

कंट्रोल यूनिट (Control Unit )

कंप्यूटर को दी जाने वाले सभी निर्देश C.P.U में मोजूद control यूनिट के पास जाते हें जिन्हें कंट्रोल यूनिट उस काम के हिसाब से C.P.U के दुसरे पार्ट्स को निर्देशित करता हें . कंट्रोल यूनिट कंप्यूटर में लगे हार्डवेयर और सॉफ्टवेर को भी कंट्रोल करता हें

Arithmetic Logical Unit (A.L.U)

जब कंप्यूटर को ऐसे कोई निर्देश दिए जाते हें जिसमे गणितय (mathematics) कैलकुलेशन और logical तर्क होते हें तब C.P.U का control यूनिट  यूज़ A.L.U के पास निर्देशित कर देता हें . A.L.U सभी गणितय (mathematics) कैलकुलेशन और logical तर्क करता हें .

स्टोरेज  यूनिट

कंप्यूटर के अन्दर स्टोरेज  यूनिट मानव मस्तिक के सामान होती हें इसका प्रयोग डेटा और सूचना को स्टोर करने के लिए किया जाता हें.

स्टोरेज यूनिट के कुछ उदारण हे .

  • मग्नेटिक डिस्क        (Magnetic Disk)
  • ऑप्टिकल डिस्क       (Optical Disk)
  • फ़्लैश मेमोरी             (Flash Memory)
  • मैग्नेटिक टेप            (Magnetic Tape)

आउटपुट डिवाइस (Output Device)

कंप्यूटर में प्रोसेस्ड डाटा आउटपुट यूनिट पर ही दिखाई देता हें आउटपुट डिवाइस कंप्यूटर के आउटपुट को यूजर के समझने योग्य बना देता हें. आउटपुट यूनिट के उदारण हें

  • मॉनिटर                (Monitor)
  • प्रिंटर                    (Printer)
  • स्पीकर                  (Speaker)

 

बूटिंग (Booting) किसे कहते हें . 

कंप्यूटर को स्टार्ट करने के लिए हमको C.P.U पर मोजूद स्टार्ट बटन को दबाना होगा .

स्टार्ट बटन दबाने से कंप्यूटर में सबसे पहला प्रोग्राम BIOS (Basic Input output system) रन होता हें जो ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating System)  को स्टार्ट करता हें , Operating system load होकर मेन मेमोरी (Main Memory ) में आ जाता हें . सभी कंप्यूटर एप्लीकेशन  और हार्डवेयर  चालू अवस्था में आ जाते हें . कंप्यूटर  के स्टार्ट होने के प्रकिर्या को बूटिंग (बूटिंग ) कहा जाता हें

मेमोरी यूनिट (Memory Unit)

मेमोरी यूनिट दो प्रकार की होती हें

RAM (Random Access Memory ) 

यह C.P.U की आन्तरिक मेमोरी होती हें जो डेटा , प्रोग्राम , प्रोग्राम रिजल्ट को स्टोर करती हें . जो कंप्यूटर सिस्टम के चालू रहने तक डेटा को स्टोर करती हें कंप्यूटर बंद होते ही डाटा ख़त्म (Delete) हो जाता हें

यह कंप्यूटर के स्पीड को तेज करने के लिए यूज़ होती हें .

RAM के प्रकार

  • DRAM
  •  SRAM
  • SDRAM

ऑनलाइन फ्रॉड से कैसे बचे 

ROM (Read Only Memory)

इस प्रकार की मेमोरी को रीड (Read)तो किया जा सकता हें लेकिन इसमें कुछ बदलाव (Change) नहीं कर सकते हें. इस  मेमोरी में कंप्यूटर के निर्माण के दोरान स्थाई (Permanently ) रूप से जानकारी स्टोर कर दी जाती हें

ROM में कंप्यूटर को चालू करने के लिए दिशा – निर्देश स्टोर (Store) रहते हें .

ROM के प्रकार

  • MROM
  • PROM
  • EPROM
  • EEPROM

Operating System (ऑपरेटिंग सिस्टम )

ऑपरेटिंग सिस्टम एक प्रोग्राम होता हें . जो यूजर और कंप्यूटर के बीच का इंटरफ़ेस (Interface) के रूप में काम करता हें  कुछ प्रसिद्ध ऑपरेटिंग सिस्टम क्र नाम

  • Windows (विंडोज )
  • Linux        (लिनक्स )

M.S. Window एक G.U.I. (Graphical User Interface) आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम हें . विंडोज  (Windows) ऑपरेटिंग सिस्टम में कई एप्लीकेशन को अलग -अलग विंडोज में एक साथ चलाया जा सकता हें .

हार्डवेयर (Hardware) : ऐसे कंप्यूटर डिवाइस जिनको हम देख कर और छू कर महसूस कर सकते हें उनको हार्डवेयर कहते हें उदाहरण के लिए : मॉनिटर , mouse , कीबोर्ड , हार्डडिस्क , पेन ड्राइव , लैपटॉप , मोबाइल फ़ोन आदि .

सॉफ्टवेर (Software) : programmes का समूह जो संचार उपकरण (Information Technology) को क्रियाशील बनाते हें, उनको सॉफ्टवेर कहते हें. जैसे : ऑपरेटिंग सिस्टम , My Paint, M.S Office आदि .